Education

यूजीसी नेटः इन तरीकों से बिना दबाव परीक्षा में पाएं सफलता

नई दिल्ली: जुलाई का महीना शुरू होते ही UGC NET 2018 की परीक्षा का समय भी और नजदीक आ गया है. NET 2018 की परीक्षा 8 जुलाई को आयोजित होगी. जिसके अंतर्गत इस बार परीक्षा के पैटर्न में भी बदलाव किया गया है. इस बार परीक्षार्थियों को 3 की जगह केवल 2 पेपर देने होंगे. परीक्षा की तारीख नजदीक है ऐसे में विद्यार्थियों पर तमाम प्रेशर बनने लगते हैं. लेकिन यहां लिखे कुछ टिप्स के जरिए आवेदकों को नेट क्वालिफाई करने में सहायता प्राप्त होगीः-

  • विद्यार्थी अपने नोट्स का अच्छे से रिवीजन करें
    सभी आवेदक अपने नोट्स का रिवीजन जरूर करें. नोट्स के सभी टॉपिक्स को आवश्यक रूप से पढ़ लें. साथ ही इन नोट्स में कुछ जरूरी बातों किसी दूसरे पेपर में लिख लें. इससे आपको प्‍वॉइंट्स याद भी रहेंगे. साथ ही अगर व्यक्ति कुछ भूलता है तो उसे जल्‍दी से रिविजन करना भी आसान होगा. व्यक्ति अकेले बैठ बोल-बोल कर रिवीजन भी कर सकते हैं, इससे आप रिवाइज किया हुआ नहीं भूलेंगे.किसी भी नये टॉपिक की शुरुआत न करें
  • परीक्षा से पहले आपने साल भर जो कुछ भी पढ़ा है उसी का रिवीजन करें. आखिरी समय में कुछ नया पढ़ने की न सोचे. नए टॉपिक को पढ़ने के चक्कर में इंसान अपना पुराना पढ़ा हुआ सब कुछ भूल सकते हैं. साथ ही कंफ्यूजन भी बढ़ जाएगा.
  • इस दौरान अपना अधिक से अधिक समय पढ़ाई को दें
    परीक्षा की तारीख नजदीक है. इस दौरान विद्यार्थी को इधर-उधर समय व्यर्थ करने से बेहतर अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना ज्यादा जरूरी है. आवेदक जितना हो सकें मोबाइल और इंटरनेट से दूर रहें, ताकि भटकाव से बचा जा सके.
  •  पहले पेपर पर ध्यान दें
    कोई भी आवेदक पहले पेपर को आसान समझने की गलती न करें. इस पेपर के जरिए ही आपकी जनरेल अवेयरनेस चेक की जाएगी जिससे आप आगे की परीक्षा देने में सफल रहेंगे. ये पेपर 100 नंबर का होगा. लास्ट मिनट में रीजनिंग, कंप्रीहेंशन और जनरेल अवेयरनेस पर अधिक फोकस करें.
  • परीक्षा के विषय में कोई भी प्रेशर न लें
    परीक्षा की तारीख नजदीक आते ही व्यक्ति के ऊपर दबाव बढ़ने लगता है. लेकिन, इस दौरान आवेदक प्रेशर न लें. प्रेशर के चक्कर में व्यक्ति परीक्षा में गलती का शिकार हो सकते हैं. शांत मन और दिमाग से एग्‍जाम देने जाएंगे तो सफलता का फासला थोड़ा और कम हो जाएगा.

इन तरीकों को अपनाने से विद्यार्थी को परीक्षा में सफलता प्राप्त करने में सहायता प्राप्त होगी.

अवश्य पढ़ेंः यूजीसी खत्म करने पर अकादमिक विद्वानों ने की आलोचना

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *