Chicken Kebab Delhi Food
Delhi Top News Food

दिल्ली के ये मशहूर कबाब, एक बार जरूर चखिएगा…

गुज़रते वक़्त के साथ दिल्ली में गर्मी दिनों-दिन बढ़ती ही जा रही है. गर्मी हो या फिर सर्दियां दिल्लीवालों का घर से निकलना कम नहीं होता. खासकर जब बात खाने की हो तो हम दिल्लीवाले ज्यादा लालची हो जाते हैं. जैसे हर शहर में कपड़े और फैशन पुराना होता है, दिल्ली में भी खाने का एक ट्रेंड चलता है, जैसे शाम को मोमोज, चाउमीन या फिर लड़कियों के फेवरेट गोलगप्पे, लेकिन सिर्फ नॉनवेज एक ऐसा फूड है जो ना तो आपको सोचने देता है और ना ही मौका. नॉनवेज लवर को बस एक बार मौका मिलना चाहिए चिकन, मटन खाने का और अगर ऐसे में कबाब खाने को मिल जाए, तो सोने में सुहागा अब आप सोचेंगे कि भला दिल्ली में जहां चारों तरफ चाइनीज खाने-पीने की चीजें ज्यादा नज़र आती हैं, वहां लज़ीज़ कबाब कहां मिलते होंगे!

आपकी चिंता जायज है, पर आज हम आपको बताने जा रहे हैं दिल्ली की कुछ ऐसी जगहों के बारे में जहां पर आप ना सिर्फ दिल्लीवालों के कबाब के टेस्ट से रूबरू होंगे, बल्कि लखनऊ के कबाबों से भी आपको दिल बाग-बाग हो जाएगा.

करीम कबाब वाला

जब बात दिल्ली में कबाब खाने की हो, तो करीम का नाम सबसे पहले आना लाज़मी हो जाता है. सालों से करीब के कबाब का स्वाद लोगों को दीवाना बनाता आया है. खासकर वह अपने नॉनवेज के लिए मशहूर है. शाम के वक़्त पुरानी दिल्ली का माहौल और जामा मस्जिद के पास से आती ताज़े बनते कबाब की खुशबु यूं ही लोगों को अपनी ओर खींच लेती है.

करीम के पास आपको कुछ ख़ास किस्म के कबाब भी खाने को मिल सकते हैं. इसमें रेशमी सीख, दिल पसंद सीख, बेमिसाल शामी और शाहजहानी जैसे कुछ खास नाम हैं.
बदलते वक़्त और बढ़ती जरुरत के कारण करीम ने अपने बिजनेस का विस्तार कर लिया है. दिल्ली की अलग-अलग जगहों पर उसने अपने रेस्तरां खोल दिए हैं. दिल्ली की कई और गलियों में अब करीब का नाम लिखा मिल जाता है. हालांकि, असली करीम के कबाबों का मज़ा लेने आज भी लोग जामा मस्जिद के पास ही जाते हैं.

राजिंदर-द-ढाबा

साउथ दिल्ली में रहने वाले बैचलर्स के लिए राजिंदर दा ढाबा को उनके दिल के बहुत करीब माना जाता है. रात में वह अक्सर आपको वहां लज़ीज़ कबाब का मज़ा लेते दिख जायेंगे. जिस तरह हाईवे पर बने ढाबों में ट्रक ड्राईवर अपनी गाड़ियों में आकर खाना खाते हैं, उसी तरह लोग गाड़ियों में आकर राजिंदर के ढाबे पर कबाब खाने आते हैं. स्टूडेंट्स ही नहीं, बल्कि हर उम्र के लोगों का यहां पर जमावड़ा लगा रहता है.

कहते हैं कि एक वक़्त था जब यह छोटा सा मामूली ढाबा हुआ करता था, लेकिन आज यह सफदरजंग एन्क्लेव की शान बन चुका है. यहां स्टूडेंट्स इसलिए भी जाना पसंद करते है, क्योंकि यहां पर कम दाम में कबाब खाने को मिल जाते हैं. यहां पर मुर्ग सीख व मटन कबाब, जैसे कई कबाब का आनंद ले सकते हैं. यहां दो लोगों के लिए 500-600 से रूपए का बजट पर्याप्त माना जाता है.

खान चाचा के कबाब

दिल्ली के खान मार्किट में बसे खान चाचा के कबाब का जादू आज भी लोगों से दूर नहीं हुआ है. पुराने समय में बच्चे व बूढ़े कबाब का मज़ा लेने यहां सदियों से आते रहे हैं. वैसे आज भी यहां लोग अच्छी संख्या में कबाब खाने के लिए आते हैं. गजब की बात तो यह है कि खान चाचा के कबाब का स्वाद बिल्कुल वैसा ही है, जैसा पहले हुआ करता था. मशहूर बॉलीवुड सिंगर दलेर महंदी भी खान चाचा के स्वाद का ज़ायका लेने कई बार जा चुके हैं. कबाब के लिए वह उनकी पसंदीदा जगह मानी जाती है.

दिल्ली में लखनऊ के कबाबों का स्वाद

लखनऊ अपने टुंडे कबाब के लिए ख़ासा मशहूर है. आपके लिए ख़ुशी की बात यह है कि टुंडे कबाब अब दिल्ली में भी मौजूद है. यह दिल्ली के मालवीय नगर में स्थित है. जितना बड़ा टुंडे कबाब का नाम है, उतना ज्यादा इसका दाम नहीं है. टुंडे कबाब, शामी कबाब और चिकेन बोटी जैसे कबाब यहां मिलते हैं. यहां पर टुंडे कबाब में बीफ नहीं मिलाया जाता, बल्कि चिकेन और मटन का ही इस्तेमाल किया जाता है. 500 रूपए के अंदर ही आप यहां पर लखनऊ के स्वाद का मजा ले सकते हैं.

किट केयर किफायती कॉर्नर

निजामुद्दीन की तंग गलियों में जहां सांस लेने में भी आपको परेशानी हो सकती है. वहां अगर आपको कबाब की खुशबू आए तो आपको समझ जाना चाहिए कि किट केयर कबाब कॉर्नर पास में ही कहीं है. अगर आपकी जेब में कम पैसे है, तो घबराइये मत, यहां आपकी जेब में डाका नहीं पड़ेगा. यहां 50 रूपए तक में भी कबाब मिलते हैं.

यहां का चिकन सीख कबाब लोगों के बीच में खासा सराहा जाता है. कहा जाता है कि ऐसा स्वाद कहीं और नहीं मिल सकता. इसके अलावा कम दाम में निजामुद्दीन दरगाह और किट केयर कबाब का भी यहां लुत्फ़ उठाया जा सकता है.

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *