Health Food

जीवन में आगे है बढ़ना, तो इस प्रकार का संतुलित भोजन अपनाएं

नई दिल्लीः आज कल के समय में लोग स्वस्थ आहार से दूर होते जा रहे हैं. भाग-दौङ भरी ज़िंदगी में लोगों को चिकना, तला हुआ और बाहरी भोजन लेना पङता है. जिसमें पोषण की मात्रा न के बराबर होती है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के मानद महासचिव डॉ के के अग्रवाल ने कहा कि व्यक्ति को 6 ग्राम से कम सोडियम लेना चाहिए. ट्रांस फैट, जो कि वनस्पति घी में होता है, दिल के लिए हानिकारक होता है और अच्छा कैलोस्ट्राल कम करके बुरे को बढ़ाता है. दिल के रोगियों को खासकर इससे बचना चाहिए. सफेद ब्रेड, आटा, चावल और चीनी चीज़ों को अपनी डाइट में बहुत कम इस्तेमाल करना चाहिए. सम्पूर्ण अनाज, ग्रीन सीरियल्स और ओट मील खाना चाहिए. संतुलित वजन सेहत की तरफ पहला कदम है, जो कि व्यक्ति को आगे बढ़ने में भी मदद करता है. फास्ट फूड, तनावपूर्ण माहौल, बिजी शेड्यूल और जीरो साइज ने लोगों के संतुलित वजन और सम्पूर्ण आहार को बिगाड़ कर रख दिया है. लोग यह नहीं समझते कि हमें अपने वजन के हिसाब से 30 गुना ज्यादा कैलोरी लेनी होती है, सभी पौष्टिक तत्व लेना जरूरी है.

हमेशा से ही अपने पैरंट्स और डॉक्टर्स को सलाह देते सुना है, कि संतुलित आहार और स्वस्थ जीवनशैली ही स्वस्थ जीवन की कुंजी है. इससे हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज़, मोटापा, कैंसर, ओस्टियोपोरोसिस, हार्ट अटैक, मेटाबॉलिक सिंड्रोम, फैटी लीवर और पॉलीसाइस्टिक ओवेरियन डिसीज जैसी जीवनशैली की बीमारियों को रोकने में भी मदद मिलती है.

पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड द्वारा गाइडेंस जारी की है जिसमें ज्यादा फल, सब्जियां और स्टार्च, कार्बोहाइट्रेड और कम चीनी वाला खाना शामिल है. यह गाइड साइंटिफिक एडवाइजरी कमेटी ऑन न्यूट्रीशियन की 2015 की कार्बोहाइट्रेड एंड हेल्थ रिपोर्ट के अनुसार पुरानी ईटवैल प्लेट की जगह ले रही है.

अवश्य पढ़ेंः जंक फूड नहीं इन गर्मियों में हेल्दी और टेस्टी चाट को बनाए ब्रेकफास्ट का साथी

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *