News

देश में किसानों की आय हुई दोगुनी, खाद्यान्न उत्पादन में दर्ज की गई बढ़ोत्तरीः मोदी

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को बताया कि देश में किसानों की आय बढ़ी है. केन्द्र द्वारा शुरू की गई विभिन्न योजनाओं के ज़रिए इसे कई मामलों में दोगुनी करने में सहायता हुई है. मोदी ने नरेन्द्र मोदी ऐप के ज़रिए देश के विभिन्न हिस्सों में चुनिंदा किसानों से बात की. जिसमें उन्होंने किसानों से उत्पादन और आय में वृद्धि होने की सफल कहानियों के बारे में भी पूछा.

मोदी ने कहा कि हम यह काम हमारे मेहनती किसानों की आय 2022 तक दोगुनी करने के लिए कर रहे हैं. इसके लिए हम जहां भी आवश्यक हो, उन्हें उचित सहायता प्रदान कर रहे हैं. हमें किसानों पर विश्वास है कि वह जोखिम लेने और बेहतर परिणाम लाने के लिए तैयार हैं.

छत्तीसगढ़ के किसानों द्वारा उनकी आय तीन साल में छह-सात गुना बढ़ी आय के बारे में बताने पर मोदी ने खुशी जताई. पीएम मोदी ने कहा कि “उनकी सरकार ने कृषि आय को दोगुनी करने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए चार प्रमुख बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित किया. सबसे पहले- हम जितना संभव हो सके निवेश लागत को कम करने की कोशिश कर रहे हैं. दूसरा- किसानों को लाभकारी मिलना चाहिए. तीसरा- अपव्यय को कैसे कम किया जाए और चौथा-आय के वैकल्पिक स्त्रोतों को पेश करने के बारे में है”.

मोदी ने कहा कि सरकार ने केंद्रीय बजट में अधिसूचित फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की घोषणा करके किसानों के लिए लाभकारी मूल्य सुनिश्चित किया है. इसके साथ ही, न्यूनतम समर्थन मूल्य के लिए निवेश लागत में राज्य सरकारों द्वारा भूमि राजस्व के साथ परिवार श्रम, मवेशियों, मशीनों, बीजों, उर्वरकों, सिंचाई, पट्टे पर जमीन के लिए किराया और कामकाजी पूंजी पर ब्याज शामिल जैसी चीज़ें भी शामिल होगी. प्रधानमंत्री मोदी का कहना है कि 2017-18 में खाद्यान्न उत्पादन 2010-14 की तुलना में 28 करोङ टन से अधिक बढ़ गया है. 2010-14 का खाद्यान्न उत्पादन औसतन 25 करोङ टन था.

अवश्य पढ़ेंः दिल्लीवालों को फिर से रुलाएगा आलू, खुदरा बाजार में इतनी पहुंची कीमतें

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *