Delhi Top News News

कर्मचारियों की कमी से जूझ रहे हैं रेलवे अस्पताल, NFIR-URMU ने उठाई ये मांग

नई दिल्ली : देशभर में रेलवे अस्पतालों में तैनात ओटी अस्सिटेंट और ड्रेसर्स को लेकर पैरामेडिकल स्टाफ की लंबित मांगों के लिए स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम का आयोजन किया गया. स्टेट एंट्री रोड स्थित ऑफ‍िसर्स क्लब में आयोजित स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के अंतर्गत रेलवे अस्पतालों में खाली पड़े पदों पर नई नियुक्तियां, छुट्टियां और ग्रेड पे बढ़ाने संबंधित कई मुद्दों पर चर्चा हुई.

पैरामेडिकल स्टाफ की मांगों को लेकर NFIR हमेशा लड़ती रहेगी- एम रघुवईया

एनएफआरआई के राष्‍ट्रीय महासचिव एम रघुवईया ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि पैरामेडिकल स्टाफ की मांगों को लेकर यूनियन हमेशा लड़ती रहेगी. प्रशासनिक अधिकारियों के आगे उन्होंने कहा रेलवे अस्पतालों में स्टाफ की कमी है और उनकी मांग जायज है. उन्होंने कहा कि मांगों को जल्द से जल्द पूरा किया जाना चाहिए.

वहीं, उत्‍तरीय रेलवे मजदूर यूनियन (यूआरएमयू) के महासचिव बीसी शर्मा ने कहा कि रेलवे अस्पतालों में ओटी असिस्टेंट, ड्रेसर के पैरामेडिकल स्टाफ के पद कम हैं. इस कार्यक्रम में मौजूद संस्था के महामंत्री गौरी शंकर, उत्तर रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे.

वहीं, एनएफआई के प्रेस सचिव एसएन मलिक के सामने उन्होंने कहा कि रेलवे अस्पताल में कम स्टाफ होने के बावजूद कर्मचारी पूरा काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि विपरित परिस्थितियों में काम करने के बाद भी कर्मियों को उनकी आवश्यकता के अनुसार छुट्टी नहीं मिल पा रही है. इस दौरान कई लोगों ने कहा कि ऑपरेशन थिएटेर में हेल्पर की संख्या कम होने के कारण काम में अक्सर समस्या का सामना करना पड़ता है.

सभी की समस्या सुनने और सभी पहलूओं पर गौर करने के बाद रेलवे महानिदेशक डॉ. अनिल कुमार ने कहा कि इन सभी मांगों को रेलवे बोर्ड के पास भेजा जाएगा. उन्होंने कहा कि इस मामले पर वरिष्ठ अधिकारी ही किसी तरह का फैसला ले सकते हैं.

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *