Delhi Top News News Politics

क्‍या केजरीवाल सरकार ने AAP कार्यकर्ताओं में बांट दिए मजदूरों के पैसे?

नई दिल्ली : दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार पर एक बार फिर से भ्रष्टाचार का आरोप लगा है. आप सरकार पर इस बार श्रम विभाग में 139 करोड़ रुपये का घोटाला करने का आरोप लगा है. आरटीआई कार्यकर्ता और दिल्ली लेबर यूनियन के अध्यक्ष सुखबीर शर्मा ने केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाते हुए दावा है कि उन्होंने मजदूरों के हक के 139 करोड़ रुपये पार्टी के कार्यकर्ताओं को बांट दिए.

श्रम विभाग ने दिल्ली के मजदूरों के लिए आवंटित किए थे 139 करोड़

केजरीवाल सरकार के कामकाज पर आरोप लगाते हुए सुखबीर ने कहा कि श्रम विभाग ने 139 करोड़ रुपये फर्जी मजूदूरों को आवंटित किया है. उन्होंने कहा कि कई ट्रेड यूनियनों ने फर्जी मजदूरों को अपनी कंपनी रजिस्टर्ड दिखाया है. शिकायत में कहा गया है कि दिल्ली में कंस्ट्रक्शन क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को दिल्ली सरकार से मिलने वाली सुविधाओं को आम आदमी पार्टी के वॉलेंटियर्स को फर्जी श्रमिक बनाकर बांट दिया गया.


केजरीवाल सरकार पर आरोप लगे मिले सही- मीडिया रिपोर्ट्स

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शुरुआती जांच में एंटी करप्शन ब्रांच ने इन आरोपों को सही पाया है और इस मामले को दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है. आधिकारिक जानकारी के मुताबिक एसीबी ने श्रम विभाग के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 467, 471, 120बी और प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है. सुखबीर शर्मा की मानें तो यह पूरा घोटाला 200 करोड़ रुपए से ऊपर का है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर बोर्ड को यह निर्देश दिए गए थे कि कंस्ट्रक्शन के लिए काम करने वाले श्रमिकों के कल्याण पर बोर्ड पैसे खर्च करे. आरोप है कि कोर्ट के आदेश पर काम तो शुरू हुआ, लेकिन वेलफेयर श्रमिकों का नहीं बल्कि आम आदमी पार्टी के वालंटियर्स का हुआ.

दिल्ली की अन्य खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें…

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *