Delhi Top News Politics

दिल्लीः पूर्ण राज्य की मांग के लिए 1 जूलाई से शुरू होगा ‘आप’ का राजनीतिक अभियान

नई दिल्ली: दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग के लिए आम आदमी पार्टी (आप) जल्द ही पूरी दिल्ली में अभियान करने वाली है. जिसकी शुरुआत पार्टी द्वारा इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम में 1 जुलाई को होने वाले सम्मेलन से होगी. इसके अंतर्गत पार्टी ने दिल्ली में एक जुलाई को महासम्मेलन का आयोजन कर तीन से 25 जुलाई तक “दिल्ली मांगे अपना हक़” नाम से हस्ताक्षर अभियान चलाने का फैसला किया है. पार्टी की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय ने आज संवाददाताओं को बताया कि सम्मेलन में दिल्ली के सभी मुहल्लों से हर वर्ग के प्रतिनिधि एकत्र होकर इस मांग को उठायेंगे. इसके अलावा जनता को इस मामले की गंभीरता से अवगत कराने के लिये हस्ताक्षर अभियान के जरिये जागरुकता अभियान भी चलाया जायेगा, जिससे लोग इस पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं होने के कारण विकास कार्यों में आने वाली बाधाओं से अवगत हो सकें.

अभियान में लगभग 10 लाख लोगों से हस्ताक्षर करवा कर उनकी मांग को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचाई जाएगी. उन्होंने कहा कि दिल्ली के विकास कार्यों में आ रही बाधाओं की खास वजह पूर्ण राज्य का दर्ज़ा न होना है. राय ने बताया कि पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं होने की वजह से दिल्ली के मतदाताओं के मत की अहमियत अन्य राज्यों के मतदाताओं से कम आंकी जाती है. दिल्ली के मतदाता अपने वोट से ऐसी सरकार चुनते हैं जिसके पास शासन प्रशासन संबंधी पर्याप्त अधिकार नहीं हैं जबकि अन्य राज्यों के मतदाता पूर्ण अधिकार संपन्न सरकार को चुनते हैं. राय ने कहा ‘‘कांग्रेस और भाजपा ने समय-समय पर दिल्ली की जनता को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का वादा किया, लेकिन आज जब दिल्ली की जनता पूर्ण राज्य की मांग कर रही है तो दोनों ही पार्टियां मुंह छुपा रही हैं.’’

पूर्ण राज्य नहीं होने के कारण दिल्ली के छात्रों के साथ हो रहे भेदभाव का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि 90 प्रतिशत अंक पाने के बावजूद दिल्ली के छात्रों को कॉलेजों में दाखिला नहीं मिल पाता है. कमोबेश यही स्थिति रोजगार के मामले में भी बनती है. आप नेता का कहना है कि दिल्ली विधानसभा के पिछले सत्र में भी दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्ज़ा देने का प्रस्ताव सर्व सम्मति से पारित हुआ था. इसमें नयी दिल्ली क्षेत्र को छोड़कर बाकी इलाकों में प्रशासनिक जिम्मेदारी दिल्ली सरकार के क्षेत्राधिकार में होने की बात कही गयी है. इस अभियान के जरिये केन्द्र सरकार पर जनता की ओर से दबाव बनाने की हरसंभव कोशिश की जायेगी. आपको बता दें कि, आम आदमी पार्टी इस अभियान की शुरुआत आप प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अगुवाई में करेगी.

अवश्य पढ़ेंः डीयूः तीसरी कटऑफ के बीच इन कोर्स में दाखिले हुए बंद

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *