Delhi Top News

राजपथ में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, आयोजन में मंत्रियों से लेकर आम लोग भी जुङे

नई दिल्लीः पूरे देश में आज (बृहस्पतिवार) को चौथा योग दिवस मनाया जा रहा है, दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे राष्ट्र के लोग योग दिवस में लोग बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं. राजधानी दिल्ली में कनॉट प्लेस के सेंट्रल पार्क से लोगों ने योग किया तो वहीं, प्रधानमंत्री मोदी ने देहरादून में 60000 लोगों के साथ योग कार्यक्रम में भाग लिया. विश्व योग दिवस में होने वाला प्रमुख आयोजन दिल्ली के राजपथ पर हुआ.

योग दिवस को ध्यान में रखते हुए केंद्रीय आयुष मंत्रालय ने नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) को राजपथ पर कार्यक्रम की तैयारी और इससे जुङी सुविधाएं रखने के निर्देश दिए. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के चार साल की अवधि में यह दूसरी बार है जब इसका आयोजन राजपथ से किया गया.
राजधानी दिल्ली में योग कार्यक्रम के आयोजन के समय उपराज्यपाल अनिल बैजल, सांसद व दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी, सांसद महेश गिरी और प्रवेश वर्मा जैसे लोग शामिल थे. इसके अलावा केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर भी मौजूद रहे और उन्होंने योग भी किया.

21 जून, 2015 में योग दिवस घोषित होने पर पहली बार स्वयं प्रधानमंत्री मोदी ने राजपथ पर योग किया था. आयुष मंत्रालय द्वारा द्वारा एनडीएमसी चेयरमैन नरेश कुमार के लिखे पत्र के मुताबिक, एनडीएमसी को राजपथ एवं रफी मार्ग पर 15 हज़ार लोगों के लिए योग करने की व्यवस्था की गई थी. आयोजन स्थल पर एलईडी स्क्रीन के ज़रिए देश में होने वाले विभिन्न योग आयोजनों का सीधा प्रसारण हो रहा था.

कार्यक्रम और लोगों को ध्यान में रखते हुए राजपथ पर होने वाले योग दिवस के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम किए गए. योग दिवस में भाग लेने वाले लोगों के लिए शौचालय, पानी व एंबुलेंस के साथ फायर विभाग की गाङियां भी मौजूद थे. इन सब के अलावा, लोगों की सेहत और तबीयत को ध्यान में रखते हुए चिकित्सकों की टीम भी आयोजन स्थल पर मौजूद थे.

फाइल फोटो

क्या है अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस
अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन से शुरू हुआ. यह दिन वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है और योग भी मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है.  पीएम मोदी ने 27 सितंबर, 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण में योग की महत्ता का जिक्र किया था। इसके बाद 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया गया। 11 दिसंबर, 2014 को संयुक्त राष्ट्र में 177 सदस्यों द्वारा 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को मनाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिली। प्रधानमंत्री मोदी के इस प्रस्ताव को 90 दिन के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया, जो संयुक्त राष्ट्र संघ में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय है.

अवश्य पढ़े ः Yoga Day 2018 : बॉलीवुड स्टार भी मानते हैं योगा को फिटनेस का गुरु

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *