Delhi Top News News Politics

4 लोकसभा समेत 10 विधानसभा उपचुनाव के परिणाम आज, केंद्र की सत्ता पर डालेंगे असर!

नई दिल्ली : देश की 4 लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के परिणाम गुरुवार(31 मई) को आ रहे हैं. सुबह 8 बजे से मतों की गिनती शुरू हो गई है. इस उपचुनाव के बाद सभी की निगाहें उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट पर टिकी हुई हैं.वहीं सभी विपक्षी पार्टियां रालोद उम्मीदवार को समर्थन दे रही हैं. सभी पार्टियां कैराना में बीजेपी की हारते हुए देखना चाहती हैं.

सोमवार (28 मई) को हुए उपचुनाव में काफी जगह वीवीपैट मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतें आईं थी जिसके बाद उत्तर प्रदेश की कैराना, महाराष्ट्र की भंडारा गोंदिया और नगालैंड लोकसभा सीट के 123 बूथों पर बुधवार को दोबारा मतदान कराए गए थे. बुधवार को हुए मतदानों में भंडारा गोंदिया लोकसभा सीट के 49, कैराना लोकसभा सीट के 73 और नगालैंड लोकसभा सीट के एक बूथ शामिल था. सोमवार को हुए मतदान में कैराना लोकसभा सीट पर 54 फीसद मतदान हुआ था.

इससे पहले सोमवार को देश के अलग-अलग राज्यों में लोकसभा की चार और विधानसभा की दस सीटों पर कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान हुआ. इसमें बहुचर्चित कैराना लोकसभा सीट पर होने वाले चुनाव भी शामिल थे. शाम 5 बजे तक कैराना नूरपुर में 57 फीसदी मतदान हुआ. पंजाब के शाहकोट में भी 5 बजे तक 69 प्रतिशत मतदान हुआ था. महाराष्ट्र के पालघार सीट पर भी 40.37 फीसदी मतदान हुआ. इसके साथ ही इन चुनावों में महाराष्ट्र के भंडारा के भंडारा – गोंदिया, नगालैंड लोकसभा सीट और पालघर संसदीय सीटों पर मतदान किया गया था.

ईवीएम में खराबी की शिकायत

मतदान करने के लिए सुबह से ही लोग कतार में लगे हुए थे. इसके साथ ही कैराना-नुरपूर में कई जगहों से ईवीएम की खराबी की शिकायतें भी आई थीं, जिस कारण मतदान प्रभावित हुआ. वहीं ईवीएम और वीवीपैट में खराबी होने के बाद विपक्ष ने इसको बीजेपी की साजिश बताया गया था. आरएलडी उम्मीदवार तबस्सुम हसन पत्र लिखकर चुनाव आयोग से इसकी शिकायत भी की थी

इन सीटों पर होगा नेताओं के भाग्य का फैसला

शाहकोट (पंजाब), थराली (उत्तराखंड), जोकीहाट (बिहार), गोमिया और सिल्ली (झारखंड), पलुस कादेगांव (महाराष्ट्र), नूरपुर (यूपी), चेंगानूर (केरल), अंपति (मेघालय) और मेहेशतला (पश्चिम बंगाल) विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए वोट डाले जा रहे हैं. इन उपचुनाव का परिणाम 31 मई को घोषित किया जाएगा.

दिल्ली चुनावों पर डाल सकते हैं असर

माना जा रहा है कि यह चुनाव दिल्ली विधानसभा और लोकसभा चुनावों का सेमीफाइनल है. इन चुनावों में जो पार्टी बहुमत हासिल करेगी, वही लोकसभा चुनावों में विजयी होगी.

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *