Health Delhi Top News News

साकेत में हुआ दुनिया के सबसे वजनी बच्चे का इलाज

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स अस्पताल में  दुनिया के सबसे वजनी बच्चे का वजन घटाने के लिए उसकी सर्जरी की गई है. सर्जरी दिल्ली के उत्तम नगर में रहने वाले मिहिर जैन को दुनिया का सबसे मोटे बच्चे की हुई है. ये बच्चा अपने मोटापे के कारण ठीक से खड़े भी नहीं हो पाता थे. इनका वजन लगभग 237 किलो था. जिसे घटाने के लिए इनके माता पिता इन्हें साकेत स्थित मैक्स अस्पताल ले कर पहुंचे. यहां इनकी सर्जरी डॉक्टर प्रदीप चौबे द्वारा की गई. चौबे एक वरिष्ठ बेरिएट्रिक सर्जन (मोटापे का इलाज) हैं, उन्होंने बताया कि पहली बार जब उन्होंने इस बच्चे को देखा तो उन्हें यकीन ही नहीं हुआ कि कोई बच्चा इतना मोटा भी हो सकता है.

खतरनाक बीमारी के स्तर तक था मोटापा 
मेडिकल साइंस के मानकों के तहत सामान्य व्यक्ति का औसत वजन (बॉडी मास इंडेक्स) 22.5 किलोग्राम प्रति वर्ग मीटर होना चाहिए. इसके 32.5 पर पहुंचने पर व्यक्ति को सामान्य से अधिक मोटा समझा जाता है और उसे मोटापे की सर्जरी कराने का सुझाव दिया जाता है. बॉडी का मास इंडेक्स 40 से 60 के बीच पहुंचने पर व्यक्ति को मोटापे की बिमारी मानी जाती है. वहीं मिहिर जैन का मात्र 14 साल की उम्र में बॉडी मास इंडेक्स लगभग 92 था. जो कि उनके उम्र के हिसाब से कई अधिक था.
मिहिर जैन की मां पूजा जैन बताती हैं कि मिहिर जन्म के समय काफी ठीक था. उसका जन्म नवम्बर 2003 में हुआ था और उस समय वह केवल 2.5 किलो था. लेकिन समय-समय पर ही उसका वजन बढ़ने लगा. जब वो पांच साल का हुआ तो उसका वजन 60-70 किलो तक पहुंच चुका था. शुरुआत में किसी ने भी इसे गंभीरता से नहीं लिया. क्योंकि परिवार में लगभग सभी का वज़न ज्यादा है. लेकिन कुछ ही समय में वजन इतना अधक बढ़ गया कि मिहीर के लिए कुछ देर तक खड़ा रह पाना भी मुश्किल हो गया. उसने दूसरी क्लास के बाद स्कूल जाना बंद कर दिया.

अवश्य पढ़ेंः दिल्ली के वो मशहूर होटल्स, जहां की Non Veg डिशेज़ हैं सबसे ज्‍यादा मशहूर

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *