Delhi Top News News

अक्टूबर तक पूरा तैयार होगा सिग्नेचर ब्रिज का कामः केजरीवाल

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में बन रहे सिग्नेचर ब्रिज का काम अक्टूबर महीने तक पूरा हो जाएगा. ये जानकारी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को एक ट्विट के जरिए दी. उन्होंने बताया कि इस ब्रिज के निर्माण के लिए पैसे की अंतिम किश्त को सरकार की ओर से जारी कर दिया गया है. और इसका काम अक्टूबर तक हर हाल में पूरा कर लिया जाएगा. साथ ही, इसके काम में कोई बाधा नहीं आने दी जाएगी. इस ब्रिज का निर्माण का मुख्य कारण 1997 में वजीराबाद पुल के संकरे होने के चलते एक बच्चों से भरी बस के यमुना में गिरने के बाद शुरू किया गया था. हादसे से 22 बच्चों की मौत हो गई थी. 1997 से सिग्नेचर ब्रिज को बनाने की योजना बनाई गई थी. लेकिन इसका काम कभी पैसे की कमी तो कभी कई अन्य कारणों के चलते कई बार निर्माण के लिए निर्धारित समय सीमा को तोड चुका है.

मई महीने के आखिर में पुल का हाल जानने के लिए मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री सिग्नेचर ब्रिज पहुंचे थे. सिग्नेचर ब्रिज के सबसे ऊपरी हिस्से जोकि 154 मीटर ऊंचा है, वहां से उन्होंने ब्रिज का जायज़ा लिया था. सिग्नेचर ब्रिज का निर्माण कार्य 96 फीसद तक पूरा हो चुका है. निर्माण कार्य पूरा होने के लिए सरकार से अंतिम फंड जारी होने की बात कही जा रही थी. तकनीकी जानकारों के अनुसार सरकार से फंड जारी होने के बाद काम पूरा होने में लगभग चार महीने लगेंगे.

आपको बता दें कि सिग्नेचर ब्रिज के निर्माण की योजना कांग्रेस की शीला सरकार के कार्यकाल के दौरान तैयार की गई थी. उस समय तय किया गया था कि सिग्नेचर ब्रिज प्रोजेक्ट का काम 2013 में पूरा हो जाएगा. योजना के दौरान इसका बजट 400 करोड़ रुपये तय था. लेकिन अब तक इस पर 1344 करोड़ रुपये खर्च हो चुके हैं.

सिग्नेचर ब्रिज को काफी खूबसूरती से बनाते हुए इसे एक पर्यटन स्थल की तरह विकसित किया जा रहा है. उम्मीद जताई जा रही है कि सिग्नेचर ब्रिज की ऊंचाई कुतुब मीनार की ऊंचाई से भी दोगुनी होगी. इस पुल का ढाई सौ मीटर लम्बा यमुना के पानी के अंदर का जो हिस्सा होगा वो तारों के सहारे बना होगा. जिसके नीचे अंदर जमीन में कोई भी पिलर नहीं होगा. इस ब्रिज के ऊपर के हिस्से में एक गलास हाउस भी बनाया जाएगा जिससे पूरी दिल्ली को देखा जा सकता है, वहां तक लिफ्ट की सहायता से पहुंचा जा सकेगा.

अवश्य पढ़ेंः डीपीसीसी का आदेश, दिल्ली में केवल 9 तरह के फ्यूल का होगा उपयोग

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *