Health News

मोहल्ला क्लीनिक की जांच के लिए पहुंचे स्वास्थय मंत्री, अधिकारियों के प्रति अपनाया कङा रुख

नई दिल्लीः दिल्ली में लंबे समय से तैयार मोहल्ला क्लीनिक को लेकर दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन स्वयं उसकी जांच के लिए आजादपुर मंडी स्थित मोहल्ला क्लीनिक पहुंचे. इस दौरान उन्होंने लोगों से क्लीनिक के लिए प्रतिक्रियाएं भी लीं. जिसके बाद सत्येंद्र जैन ने विभागीय अधिकारियों की तरफ कङा रुख़ अपनाया.

सूत्रों का कहना है कि, स्वास्थय मंत्री सत्येंद्र जैन ने स्वास्थ्य सेवाओं के महानिदेशक डॉ. कीर्तिभूषण को निर्देश दिया है कि एक जुलाई तक दिल्ली में सभी लंबित पङे करीब 30 मोहल्ला क्लीनिक को शुरू किया जाए. इस कार्य में किसी अधिकारी के रुकावट बनने पर मंत्री जैन ने उन्हें व्यक्तिगत तौर पर सूचना देने को कहा है. सत्येंद्र जैन ने अधिकारियों को लिखित आदेश दिया कि 1 जुलाई से सभी मोहल्ला क्लीनिक सही से चलने चाहिए.

आपको बता दें कि, दिल्‍ली में ‘आप’ सरकार ने 1000 मोहल्‍ला क्लिनिक खोलने का लक्ष्‍य तय किया था, लेकिन अभी तक सिर्फ 110 ऐसे क्लिनिक खुले हैं. ये मोहल्‍ला क्लिनिक दो मिलियन लोगों को बेहतर स्‍वास्‍थ सेवाएं देने के लिए खोले गए. भारत की 89 प्रतिशत आबादी अपनी जेब से स्‍वास्‍थ्य सेवाओं के लिए पैसे खर्च करती है. मात्र 17 प्रतिशत लोगों के पास ही भारत में हेल्‍थ इंश्‍योरेंस है. मोहल्‍ला क्लीनिक के ज़रिए लोगों को 110 दवाएं और 212 डॉयग्‍नोस्टिक टेस्‍ट पूरी तरह से फ्री होंगी.

मोहल्ला क्लीनिक का उद्देश्यः

मोहल्‍ला क्लीनिक खोलने का कॉन्‍सेप्‍ट सबसे पहले दिल्‍ली में आप सरकार लेकर आई थी. जिसका सीधा से उद्देश्‍य लोगों को मुफ्त में स्‍वास्‍थ सेवाएं मुहैया कराना था. यह एक प्राइमरी हेल्‍थ सेंटर है जो लोगों को जुखाम, बुखार जैसी मामूली बीमारियों से निजात दिलाने के लिए दिल्‍ली सरकार ने शुरु की थी. यहां मरीज़ को दवा, डायग्‍नोस्टिक्‍स सहित सभी डॉक्‍टरी सुझाव फ्री में मिलते हैं. दरअसल, मोहल्‍ला क्लीनिक को शुरु करने के पीछे वजह सरकारी अस्‍पतालों की भीड़ को कम करना थी. जहां गंभीर बीमारियों से लेकर जुखाम और बुखार से पीडि़त मरीज भी घंटो लाइन में खड़ा रहकर अपने बारी का इंतजार करता है. ऐसे में मोहल्‍ला क्लिनिक जो, दिल्‍ली के कुछ खास जगह को चिन्हित कर के खोले गए थे. उन्‍होंने अस्‍पतालों पर मरीजों के दबाव को कुछ कम करने का भी काम किया.

अवश्य पढ़ेंः मनीष सिसोदिया नहीं चाहते दिल्ली के बच्चों के लिए ‘बुनियाद’

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *