Amit-Shah
Delhi Top News Politics

BJP कर्नाटक में क्‍यों नहीं बना पाई सरकार, सुनिये क्‍या था अमित शाह का जवाब

नई दिल्ली : कर्नाटक चुनाव में बीएस येदियुरप्‍पा के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद सिर्फ 55 घंटे चली बीजेपी की सरकार को लेकर बीजेपी की तरफ से बड़ा बयान आया है. यह बयान खुद बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने दिया.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राष्ट्रीय अधयक्ष अमित शाह ने सोमवार को कहा कि हम कर्नाटक विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरे. लिहाजा, यह हमारी पार्टी की जिम्मेदारी थी कि हम सरकार बनाने का दावा करें. इसमें कुछ भी अलोकतांत्रिक और अनैतिक नहीं था. शाह ने कहा की अगर कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर (जेडीएस) ने MLAs को फाइव स्‍टार होटल में बंद नहीं किया होता और उन्हें लोगों से बात करने की इजाजत दी होती तो जेडीएस का समर्थन भाजपा को मिलता.

कर्नाटक में जनादेश भाजपा के पक्ष में था- अमित शाह

अमित शाह ने यहां भाजपा मुख्यालय में एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा, “कर्नाटक में भाजपा सबसे बड़े दल के रूप में उभरी. जनादेश भाजपा के पक्ष में था. कांग्रेस और जेडीएस ने जनता के जनादेश के खिलाफ गठबंधन बनाया है. इसे ही मैं एक अपवित्र गठबंधन कहता हूं.”

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते भाजपा का सरकार बनाने का दावा करना सही था. क्या हमें दोबारा चुनाव कराने चाहिए थे? क्या हमें सरकार बनाने का दावा नहीं करना चाहिए था? यह जनादेश के खिलाफ होता. यहां कुछ भी अलोकतांत्रिक और अनैतिक नहीं हुआ.

भाजपा द्वारा खरीद फरोख्त (हॉर्स ट्रेडिंग) के प्रयास करने के आरोपों का जवाब देते हुए शाह ने पलटवार किया और कहा कि राज्य में सरकार बनाने के लिए कांग्रेस ने अपना अस्तबल (स्टेबल) बेचा है. उन्होंने कहा, “हम पर खरीद फरोख्त का आरोप लगाया गया है लेकिन कांग्रेस ने पूरा का पूरा अस्तबल ही बेच खाया है.”

आपकी राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *